किस प्रोग्शाला से निकला ये वायरस,चूस रहा हे इंसानो का जीवनरस, है चीन से फैला ज़हर,ईरान पर बरसा कहर,इटली बना शमशान, जो जहा है वही रुक गया ,न कोई कही आ रहा है न कोई कही ...